एलर्जी दूर करने के घरेलू नुस्खे और उपचार // Home remedies for allergy

                                             
                                                     

       एलर्जी की समस्या बच्चों से लेकर सभी उम्र के लोगों में देखने को मिलती है। शहरी वातावरण में तो इस तरह की समस्याएं ओर भी ज्यादा हैं। एलर्जी के बहुत से प्रकार होते हैं।


एलर्जी के कारण -

1.खाने पीने की चीज़ों के द्धारा: कुछ लोगो को खाने पीने की चीज़ों से भी एलर्जी होती हैं जैसे मछली, मशरूम, दूध, अंडा, गेहूं या कोई ओर चीज़।
2.मौसम के बदलने से: कुछ लोगो को मौसम के बदलने से भी एलर्जी जैसी समस्या का सामना करना पड़ता हैं, बारिश के मौसम में यह समस्या अधिक होती हैं ।

3.वातावरण के द्धारा: हवा में मौजूद फूलों के परागकण, धूल, मिटटी, धुआं और पशुओं से एलर्जी हो सकती हैं।
कीड़ों के काटने के द्धारा: मधुमक्खी, ततैया आदि के काटने से भी कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या हो सकती हैं, जैसे त्वचा की सूजन और दर्द।
4.दवाईयों के द्धारा: अंग्रेजी दवाओं से भी कुछ लोगो को एलर्जी हो सकती हैं।
एलर्जी के लक्षण
नाक की एलर्जी: जुकाम होना, नाक बंद होना और बहना या छींके आना।
त्वचा में एलर्जी: शरीर में किसी भी जगह लाल लाल दाने पड़ना और उनमे खुजली या सूजन होना शरीर में किसी भी अंग पर खारिश होना या त्वचा का लाल होना।
खाने से एलर्जी: खाने के एलर्जी की स्तिथि में पेट में दर्द, गैस, उलटी आना, दस्त की शिकायत या त्वचा लाल हो सकती हैं।
फेफड़ों में एलर्जी: गले में तेज़ जलन और खारिश होना, साँस लेने में तकलीफ होना। इसके अलावा स्वाद या गंध न आभास न होना व मुँह के आसपास सूजन होना और कुछ भी खाने में कठिनाई होना भी एलर्जी के लक्षण हैं।
अन्य लक्षण: आँखों में जलन, खुजली होना या पानी आना।
एलर्जी दूर करने के घरेलू,आयुर्वेदिक उपाय 
अरंडी का तेल या कैस्टर ऑयल
आंतों, स्किन और नाक की एलर्जी से छुटकारा पाने के लिए फलों और सब्जी के रस में 5 बूंद कैस्टर ऑयल डाल कर रोज़ सुबह खाली पेट पीयें। फलों या सब्जियों के रस की जगह पानी का प्रयोग भी किया जा सकता हैं।
अंजीर और छुहारे के उपयोग से
एक अंजीर और एक छुआरा लें और उसे दूध में उबाल लें रात के समय इस उपाय के प्रयोग से भी एलर्जी से वचाव होता हैं।
पानी की भाप
रोज़ पानी की भाप लेने से भी छींकने, खांसने और नाक की एलर्जी से राहत मिलती हैं और यह उपाय सबसे अच्छे उपायों में से हैं।
हर्बल चाय
हर्बल चाय से एलर्जी की समस्या से राहत मिलती हैं। अदरक, काली मिर्च, तुलसी के पत्ते, लौंग व मिश्री से घर पर ही हर्बल चाय बनाये और पीयें। इसके सेवन से एलर्जी से भी छुटकारा मिलता हैं साथ में यह ऊर्जा का भी अच्छा स्त्रोत हैं। इसके अलावा ग्रीन टी भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा कर एलर्जी को दूर करने मदद करती हैं।
निम्बू का रस
गुनगुने पानी में आधा चम्मच निम्बू का रस और एक शहद का चम्मच मिलाएं और रोज़ सुबह इस उपाय का प्रयोग करने से एलर्जी में राहत मिलती हैं।
नीम की पत्तियां
नीम की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना ले और फिर उसकी गोलियां बना कर रख लें। रोज़ सुबह खाली पेट शहद में इन गोलियों को डूबा कर निगलें और इसके बाद एक घंटे तक कुछ न खाएं। इस उपाय से एलर्जी से राहत मिलती हैं।
त्वचा की एलर्जी के लिए निम्बू का प्रयोग
निम्बू एक अच्छा एंटी-बैक्टीरियल हैं, इसलिए अगर आपको त्वचा की एलर्जी की समस्या हैं तो निम्बू के रस में नारियल तेल मिलाएं और प्रभावित स्थान पर रात भर लगा के रखें। फिर इसे नीम के पानी से धो दें। इससे राहत मिलती हैं इसके अलावा खसखस के बीज, शहद और नींबू के रस को मिला कर प्रयोग करने से त्वचा की एलर्जी में राहत मिलती हैं।
स्किन एलर्जी पैक
स्किन की एलर्जी होने पर यह पैक भी बहुत उपयोगी होता हैं। इस बनाने के लिए कुछ तुलसी के पत्तों को पीस कर उसमे एक चम्मच जैतून का तेल, 2 कालिया लहसुन, थोड़ा सा नमक और काली मिर्च डाल कर अच्छे से पीस लें, उसके बाद प्रभावित जगह पर लगायें कुछ देर लगाने के बाद धो दें। इस उपाय से भी अच्छे परिणाम मिलते हैं
फलों के जूस के सेवन से
अगर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत हैं तो आपको एलर्जी होने का खतरा नही होता। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए रोजाना एक गिलास गाजर का जूस पीना सर्वोत्तम हैं। आपकी मर्जी हो तो आप मिक्स जूस जैसे खीरे, चुकंदर और गाजर को मिला कर भी सेवन कर सकते हैं।

वीर्य की मात्रा बढ़ाने और गाढ़ा करने के उपाय 


एलर्जी के लिए कुछ और आयुर्वेदिक उपाय-
1.स्किन एलर्जी होने पर फिटकरी के पानी से उस भाग को धोएं। नारियल तेल में कपूर या जैतून तेल मिलाकर लगाएं।
2. 100 मिलीलीटर खीरे के रस, 100 मिलीलीटर चुकंदर के रस और 300 मिलीलीटर गाजर के जूस को मिला कर पीने से भी लाभ मिलता हैं।
3.नाक की एलर्जी होने पर सुबह भूखे पेट 1 चम्मच गिलोय और 2 चम्मच आंवले के रस में 1चम्मच शहद मिला कर कुछ दिन इसका सेवन करें इससे अच्छे परिणाम मिलते हैं।
4.च्यवनप्राश के रोजाना सेवन करने से भी लाभ होता हैं।
5. 100 मिलीलीटर खीरे के रस, 100 मिलीलीटर चुकंदर के रस और 300 मिलीलीटर गाजर के जूस को मिला कर पीने से भी लाभ मिलता हैं।




एक टिप्पणी भेजें