Wednesday, September 13, 2017

केलॉइड को दूर करने के लिए घरेलू प्रकृतिक उपचार



केलॉइड को हटाने के लिए कुछ लोग सर्जरी, इंजेक्शन या लेजर उपचार को चुनते हैं। लेकिन इन महंगे उपचार पर पैसा खर्च करने से अच्‍छा है कि आप इसे दूर करने के लिए घर में ही मौजूद कम लागत वाले कुछ सरल प्राकृतिक उपचारों का इस्‍तेमाल करें।
केलॉइड
केलॉइड एक तरह के निशान है, जो रेशेदार ऊतको की असामान्‍य वृद्धि के कारण विस्‍तारित होते हैं। त्‍वचा के जख्म जैसे मुंहासे, जलने, काटने और छिलने पर निशान छोड़ सकते हैं। कोलेजन की अतिरिक्त राशि के बढ़ने से केलॉइड समय के साथ बढ़ता है। आमतौर पर यह दर्दरहित होता है लेकिन कभी-कभी इसमें खुजली हो सकती है।
भले ही केलॉइड के निशान से स्‍वास्‍थ्‍य को कोई नुकसान नहीं होता, ले‍किन कई लोग को यह बढ़े हुए बदसूरत निशान नापसंद होते है। इसे हटाने के लिए कुछ लोग सर्जरी, इंजेक्शन या लेजर उपचार को चुनते हैं। लेकिन इन महंगे उपचार पर पैसा खर्च करने से अच्‍छा है कि आप केलॉइड को दूर करने के लिए घर में ही मौजूद कम लागत वाले कुछ सरल प्राकृतिक उपचारों का इस्‍तेमाल करें। यहां पर केलॉइड के लिए सबसे अच्‍छे  उपाय दिये गये हैं
एलोवेरा
एलोवेरा त्‍वचा के लिए बहुत अच्‍छा होता है और केलॉइड के उपचार के लिए इसका इस्‍तेमाल किया जा सकता है। यह सूजन कम करने, त्‍वचा को अच्‍छी तरह मॉइस्चराइज रखने और क्षतिग्रस्‍त त्‍वचा को ठीक करने में मदद करता है। यह त्‍वचा के संक्रमण को रोकने में मदद करता है। दिन में दो बार गुनगुने पानी से अच्छी तरह प्रभावित हिस्‍से को साफ करके एलोवेरा जैल को लगाये।
नींबू का रस
नींबू के रस में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन सी केलॉइड सहित विभिन्‍न प्रकार के निशान के इलाज में बहुत मददगार होता है। इस उपाय का उपयोग करने के कुछ ही हफ्तों के बाद, निशान के रंग, बनावट, दिखावट, और लचीलापन में आपको महत्वपूर्ण सुधार देखने को मिल जाता है। ताजा नींबू के रस को निकालकर उसे त्‍वचा के प्रभावित हिस्‍से पर लगायें। लगभग आधे घंटे के बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को नियमित रूप से कम से कम दिन में एक बार जरूर दोहरायें।
चंदन और गुलाब जल
चंदन में त्‍वचा को पुर्नजीवन देने के कई गुण होते हैं और गुलाव जल एक प्राकृतिक त्‍वचा टोनर है। इन दोनों के एक साथ इस्‍तेमाल से केलॉइड के निशान को रोकने और हल्‍का करने में मदद मिलती है। चंदन पाउडर में गुलाब जल मिलाकर गाढ़ा पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट को रात को सोने से पहले प्रभावित हिस्‍से पर लगा लें। सुबह गुनगुने पानी से इसे अच्‍छी तरह से धो लें। एक यह दो महीने इस उपाय को नियमित रूप से करें। i


बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा एक एब्रेसिव (सख्त) एजेंट के रूप में काम करता है और त्वचा एक्सफोलिएट में मदद करता है। केलॉइड का प्रबंधन करने के लिए इसका सफलतापूर्वक इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए आप ए‍क हिस्‍से बेकिंग सोडा को तीन भाग हाइड्रोजन पेरोक्‍साइड के साथ मिलाकर पेस्‍ट बना लें। सूजन को कम करने और उपचार प्रक्रिया को तेज करने के लिए इसे सीधा प्रभावित हिस्‍से पर लगाये। निशान की गंभीरता के आधार पर इसे एक दिन में तीन या चार बार लगाये।
लहसुन
लहसुन, केलॉइड के कारण होने वाले अत्यधिक फीब्रोब्लास्ट प्रसार को रोकता है। ऐसा करना इसे इस तरह के निशान को दूर करने वाला अच्छा घर उपचार बनाता हैं। लहसुन के तेल को निशान पर लगा कर 10 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर उस हिस्‍से को अच्‍छी तरह से धो लें। अगर लहसुन का तेल उपलब्ध नहीं है, तो आप लहसुन की कली को क्रश करके उसका उपयोग कर सकते हैं। लहसुन का तेल या कली से जलन पैदा हो जाये तो तुरंत गुनगुने पानी से धो लें।
एस्पिरिन
सिर दर्द और अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप एस्पिरिन का इस्‍तेमाल करते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि केलॉइड के इलाज के लिए भी इसे इस्‍तेमाल किया जा सकता है। यह केलॉइड के निशान के आकार और उपस्थिति को कम करने में मदद करता है। इसके लिए तीन या चार एस्पिरिन की गोलियां क्रश करके पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। इस पेस्‍ट को निशान पर लगाये और पूरी तरह से सूख जाने पर पानी के नीचे धीरे-धीरे रगड़ कर साफ कर लें। सूखाकर आप इसपर जैतून या टी ट्री ऑयल लगा लें। इस उपाय को केलॉइड के दूर होने तक लगाये।
सेब साइडर सिरका
सेब साइडर सिरका केलॉइड के लिए सबसे अच्‍छा घरेलू उपाय है क्‍योंकि यह निशान के आकार और लाली को कम करने में मदद करता है। प्रभा‍वित हिस्‍से पर इसे लगा कर धीरे-धीरे मसाज करें ताकि सिरका अच्‍छी तरह से त्‍वचा में अवशोषित हो जाये। कुछ मिनट इसे ड्राई होने के लिए छोड़ दें। उपचार में तेजी लाने के क्रम में इस प्रक्रिया को दोहराये। अच्‍छा परिणाम पाने के लिए इस उपाय को एक दिन में कई बाद करें और इलाज को चार से पांच सप्‍ताह के लिए जारी रखें। एप्पल साइडर सिरके के उपयोग से त्‍वचा पर जलन होने पर पानी से इसे तुरंत धो लें।


शहद

शहद एक प्राकृतिक हुमेक्टैंट humectant(किसी भी पदार्थ को नम रखने के लिए अन्‍य पदार्थ के साथ जोड़ा जाता है) है जो त्‍वचा के घावों को भरने और नम करने में मदद करता है। इसलिए केलॉइड के उपचार के लिए केलॉइड की अत्‍यधिक सिफारिश की जाती है। कुछ सप्ताह से अधिक शहद का नियमित इस्‍तेमाल केलॉइड की समस्या को हल कर देता हैं। निशान पर ताजा शहद लगाये और रक्त परिसंचरण में सुधार और मृत त्वचा कोशिकाओं के संचय को रोकने के लिए धीरे-धीरे उस हिस्‍से की मालिश करें।



Post a Comment

Featured Post

किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार //Kidney failure, information and treatment

किडनी कैसे काम करती है? किडनी एक बेहद स्पेशियलाइज्ड अंग है. इसकी रचना में लगभग तीस तरह की विभिन्न कोशिकाएं लगती हैं. यह बेहद ही पतली...