Sunday, December 18, 2016

अंजीर के पत्तों से बनी चाय के यह फायदे जानते हो आप ?



अंजीर के पत्ते
अंजीर का नाम तो आपने सुना ही होगा |अंजीर एक बहुत ही गुणकारी सूखा हुआ फल होता है |अंजीर के फल के साथ -साथ इसके पत्ते भी बहुत ही उपयोगी होते है|
अंजीर के वृक्ष अधिकतर गर्म देशों में होते है |अंजीर के वृक्ष 10 हाथ ऊँचे होते है और इसके पत्ते बड़े होते है| चूने वाली भूमि पर इसकी पैदावार अच्छी होती है |अंजीर दो तरह होते है |एक तो बोया हुआ ,जिसके फल और पत्ते बड़े होते है और दूसरा जंगली ,जिसके फल और पत्ते पहले वाले से अपेक्षाकृत छोटे होते है |अंजीर को इंग्लिश में Fig कहते है इसका लेटिन नाम फाइकस कैरिका है
अंजीर के पत्तो से बनने वाली चाय डाइटरी फाइबर , एंटीऑक्सीडेंट्स , टीथ एंड बोन बिल्डिंग कैल्शियम , पोटैशियम , सोडियम , फोलिक एसिड , जिंक , मैंगनीज , कॉपर , मैग्नीशियम और विटामिन्स K, C, B और A से भरपूर है |
अब आपको अपनी सेहत (Health) पर और पैसे खराब करने की जरूरत नहीं है | आपको करना बस इतना है ..जो नुस्खा आज हम आपको इस आर्टिकल में बताने जा रहे है उसे अपने घर में तयार करना है और उसका लाभ उठाना है |

अंजीर के पत्तों में कुछ ऐसे रसायन होते हैं जो इंसुलिन को  को ज्यादा असरदार तरीके से इस्तेमाल करते हैं जिस कारण ये मधुमेह की बिमारी में काम आ सकते हैं ।
आप अंजीर के पत्तों को पानी में उबाल कर चाय की तरह पी सकते हैं। सुबह सुबह खाली पेट अंजीर के पत्तों को आप चबा कर खा भी सकते हैं।
अब आपको अपनी सेहत (Health) पर और पैसे खराब करने की जरूरत नहीं है | आपको करना बस इतना है ..जो नुस्खा आज हम आपको यहाँ  बताने जा रहे है उसे अपने घर में तैयार करना है और उसका लाभ उठाना है |



आज हम बात कर रहे है अंजीर के पत्तों से बनी चाय की | हम आपको बता दें अंजीर के पत्तो में कई गुण होते है जो आपके शरीर को तंदरुस्त बनाये रखते है |
तो आये जानते है कैसे करें तयार अंजीर के पत्तो की चाय |
थोड़े से अंजीर के पत्ते लें और  पानी में डाल कर 15 मिनटों तक उबालें |
अब इस मिश्रण को 5 मिनटों तक धीमी आंच  पर रखें |
इस मिश्रण के ठंडा होने का इंतज़ार करें |
ठंडा होने के बाद अगर आप चाहें तो इसमें थोडा सा शहद डाल सकते हो |
आपकी चाय तयार है |
इस चाय के सेवन से आप कई बीमारियों से मुकत हो जाओगे जिन में मधुमेह  और खराब वाला कोलेस्ट्रॉल प्रामुख है |
पके हुए फल
पके हुए फल या अंगोरा कुछ कुछ संतरे जैसे  लगते हैं, लेकिन इनका अन्दरूनी भाग लाल रंग का होता है । ये मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए या मधुमेह की संभावना के साथ रह रहे लोगों के लिए एक शानदार दवाई है। यह आपको वज़न घटाने में मदद करता है।
 अपने शूगर लेवल को जांचते रहे और लेवल बनाये रखने के लिए दिन में 3 बार ये फल लें 






Post a Comment

Featured Post

किडनी फेल,गुर्दे खराब रोग की जानकारी और उपचार :: Kidney failure, information and treatment

किडनी कैसे काम करती है? किडनी एक बेहद स्पेशियलाइज्ड अंग है. इसकी रचना में लगभग तीस तरह की विभिन्न कोशिकाएं लगती हैं. यह बेहद ही पतली...