26.11.16

नीम के इतने गजब के फायदे हैं तो क्यों ना खाएं रोजाना नीम?




1. नीम के फल को निम्बोली कहा जाता है जिससे तेल प्राप्त होता है |
2. नीम के अन्दर कडवे परन्तु स्वास्थ्य वर्धक पदार्थ पाए जाते है |
3. नीम का उपयोग हर्बल सामग्री बनाने में किया जाता है जैसे- साबुन, एंटीसेफ्टिक क्रीम, दातुन मधुमेह नाशक चूर्ण और कोस्मेटिक आदि |
4 नीम मलेरिया फलाने वाले मच्छरों को भी दूर रखता है तथा नीम के पत्तो का धुआं करने से मच्छर भी मर जाते है |
5 . नीम तथा बेर के पत्तो को पानी में उबालकर उससे बाल धोने से बालो का झड़ना बंद हो जाता है |
6 नीम की पत्तियों के रस को आँखों में डालने से आँख आने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है




7. नीम के बीजो के चूर्ण को पानी के साथ लेने से बवासीर में भी आराम मिलता है |
८ नीम के तेल की मालिस करने से गठिया बाय में भी आराम मिलता है |
9. नीम की निम्बोलियो का चूर्ण खाने से कब्ज़ से छुटकारा मिलता है |
10 . नीम के फूल, फल, पत्तिया, छाल तथा जड़ के चूर्ण को खाने से गर्मी से होने वाली लू में आराम मिलता है |
11 . नीम के पुराने पेड़ो से liquid निकलता है जिसको नीम ताड़ी कहते है इसका उपयोग औषधि बनाने में किया जाता है |
12 . नीम की छाल में पाए जाने वाले गुण दातोंमें बैक्टीरिया को नहीं होने देते |
13 नीम के तेल की मालिस से अनेक प्रकार के चर्म रोगों को दूर किया जा सकता है |
14 नीम की दातुन करने से दातों तथा मसूडो को मजबूत किया जा सकता है और मुहँ से दुर्गंद भी नही आती |




Post a Comment