12.10.16

10 दिन मे तोंद सपाट करने के उपाय : Measures to flat belly in 10 days



गुन गुना पानी पीना :
पानी हमारे शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। पानी के बिना इंसान जी नहीं सकता है, लेकिन गुनगुना या गर्म पानी भी कम फायदेमंद नहीं है। ये गुणों की खान है। गुनगुना पानी पीने से मोटापा कम होता है। मोटापे से परेशान लोगों के लिए गुनगुना पानी बहुत हितकारी है। खाना खाने के आधे घंटे बाद एक ग्लास गुनगुने पानी को सिप करके पीने से शरीर का वजन कम होता है। इसके पीछे ये तर्क दिया जाता है कि गुनगुना या गर्म पानी शरीर के विषैले तत्वों को बाहर निकाल देता है। इससे शरीर की गंदगी को साफ करने का प्रोसेस तेज होता है और किडनी के माध्यम से गंदगी बाहर निकल जाती है। इसके अलावा थोड़ा गर्म पानी पीने से कब्ज भी दूर होती है। गर्म पानी से नहाने से थकान मिटती है और त्वचा में निखार आता है। गर्म पानी के इस्तेमाल से वजन कम होने के साथ-साथ ब्लड सर्कुलेशन भी संतुलित होता है। गर्म पानी में नींबू और शहद मिलाकर पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, साथ ही ये मिश्रण वजन कम करने में भी फायदेमंद है। किडनी की सही देखभाल के लिए दिन में सुबह-शाम 2 बार गुनगुना पानी पीना चाहिए। जिससे शरीर में मौजूद गंदगी बाहर निकल जाती है और शरीर साफ रहता है। अक्सर कई बीमारियों की शुरुआत पेट निकलने की समस्या से ही शुरु होती है। एक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार, प्रतिदिन अपने भोजन में नमक की मात्रा घटाकर और पोटैशियम से भरपूर :*फाइबर युक्त भोजन का अधिकाधिक उपयोग कर हम तोंद के निकलने से बच सकते हैं। । एक दिन में अधिकतम 1500 मिलीग्राम नमक ही खाएं। *घुलनशील एवं अघुलनशील रेशेयुक्त भोजन की मिश्रित मात्रा का प्रयोग करना चुस्त-दुरुस्त एवं छरहरा रहने का सबसे अच्छा तरीका है। पेट के अत्यधिक भरे होने से बचें, क्योंकि इससे कब्ज होती है। सोडियम चूंकि शरीर में जल के स्तर को बनाए रखता है, वहीं पोटैशियम अतिरिक्त जल से निजात दिलाने में मददगार होता है।



केले और शकरकंद जैसे पोटैशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ का सेवन करने से कमर के मध्य हिस्से को पतला करने में मदद मिलती है। पर्याप्त मात्रा में जल का सेवन करने से भोजन के रेशे अपना कार्य कहीं बेहतर तरीके से कर पाते हैं और कब्ज की शिकायत को दूर रखते हैं।
*ऐसे खाद्य पदार्थों से दूर रहें जो पचने में मुश्किल हों, जैसे चीनी या वसायुक्त खाद्य पदार्थ। फ्लेवर्ड पेय पदार्थों, कम कार्बोहाइड्रेट वाले एवं चीनी रहित खाद्य पदार्थों को हमारा शरीर आसानी से नहीं पचा पाता। बड़ी आंत में पाए जाने वाले जीवाणु उन्हें फर्मेट करने की कोशिश करते हैं, जिसके कारण पेट में गैस बनती है और पेट फूल जाता है।
*यदि आप अपनी तोंद से परेशान हैं और उसे शेप में लाने के लिए जी जान लगाकर कसरत करने में जुटे हैं तो जरा रुक कर एक बार यह भी सोच लीजिए कि कहीं ऐसा तो नहीं कि शरीर से अतिरिक्त वसा हटाने के जुगत में आप खुद को बीमार बना रहे हों। हर इंसान चाहता है कि वह शर्ट या टी-शर्ट से बाहर झांकती तोंद को कम कर फिट बन सके। और इसके लिए कई लोग रात दिन एक कर तरह-तरह के व्यायाम भी करते हैं। लेकिन उन्हें यह नहीं मालूम होता कि इससे फायदा होने के बजाय उन्हें नुकसान तो नहीं हो रहा है। जी हां फिटनेस एक्सपर्ट बताते हैं कि जो लोग वजन घटाने के लिए एक्सरसाइज रूटीन बनाए हुए हैं उन्हें सावधान होकर पहले यह तय करना चाहिए कि उनके लिए कौंन सा व्यायाम और कितना व्यायाम बेहतर है। जो लोग बिना सोचे-समझे तमाम तरह के व्यायाम करते हैं, वे फायदे की जगह नुकसान उठआ सकते हैं। आपको जानकर खुशी होगी की आपको अपनी तौंद को कम करने के लिए ढ़ेर सारी नहीं बल्कि दो एक्सरसाइज ही काफी हैं। लेकिन एक्सरसाइज के साथ-साथ डाइट और दिनचर्या का ध्यान रखना भी जरूरी होता है। तो चलिये जानें कौंन सी हैं ये एक्सरसाइज और क्या है इन्हें करने का सही तरीका। कैटल बॉल स्विंग ग्रुप क्लासेज में आपको प्लियोमेट्रिक (एक तरह की कसरत जिसमें बहुत तेज गति होती है) करना सिखाया जाता होगा। इसमें वेट बांधकर टेबल को जंप करते रहना होता है। लेकिन स्टेप अप बेंच को जंप करके पार करना और उस दौरान डंबल या लाइट वेट को टखने से बांधना खतरनाक हो सकता है, क्योंकि इससे चोट लग सकती है। हालांकि जंप करने से काफी कैलोरी खर्च होती है, लेकिन बात यह भी है कि वेट लेकर जंप करने से कोई टिश्यू या मसल खिंच सकती है या फिर कहीं चोट भी लग सकती है।
फिटनेस एक्सरपर्ट बताते हैं कि यदि आप जंप करना चाहते हैं तो कैटल बॉल स्विंग करें। डंबल और बारबेल का उपयोग केवल रेजिस्टेंस ट्रेनिंग प्रोगाम में ही करना चाहिए, जहां आपके सभी मूवमेंट पर ट्रेनर की पेनी नजर होती है। केटल बॉल एक्सरसाइज के लिए झुक कर (हाफ बेंड) खड़ा होना पड़ता है। इसके बाद दोनों पैरों में थोड़ा गैप बनाया जाता है और कैटल बॉल्स को दोनों हाथों में पकड़कर पैरों के बीच में होते हुए कंधों तक उठाकर स्विंग किया जाता है। बोट स्टाइल 'बोट' यानी नाव के आकार में शरीर को स्ट्रेच करने की यह एक्सरसाइज पेट का फैट कम करने की एक बेहद कारगर और फायदेमंद एक्सरसाइज है। इसे करने के लिए जमीन पर बैठ जाएं, ऐसे में आपके दोनों पैर सीधे होने चाहिए। अब दोनों हाथों को ऊपर उठाते हुए सांस खींचें और झुकते हुए दोनों पंजों को हाथों से छुएं। इस दौरान कोशिश करें कि आपके कंधों से घुटने छू जाएं। इस एक्सरसाइज को रोज दिन में तीन बार करें। कुछ ही हफ्तों में आप अपने पेट की चर्बी में कमी होती हुई महसूस कर पाएंगे। फैड डाइट न लें।



*वजन घटाने के लिए डिटॉक्स बेहतर उपाय नहीं है। तेजी से वजन घटाना कई बार खतरनाक साबित हो सकता है। फैड डाइट आपको मोटा होने से बचाता है लेकिन इसके साथ कई स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं और कई मामलों में तो आप पहले से भी ज्यादा मोटे हो जाते हैं। पौष्टिक आहार समय से खाएं और भूख से थोड़ा कम ही खाएं। वजन घटाने के लिए सबसे पहले डायटीशियन से संपर्क करके अपने अनुकूल डाइट प्लान बनवाएं ताकि आप हेल्दी तरीके से वजन घटा सकें और एक्सरसाइज का भी पूरा असर हो सके। वजन घटाने के लिए डाइट और एक्सरसाइज दोनों को साथ में लेकर ही बेहतर परिणाम पाये जा सकते हैं।
*रात में देर तक जग कर काम करते हैं तो अब ये आदत छोड़ दें। समय से सो जाएं और भरपूर नींद लें क्योंकि जब आप थके होते हैं तो आपके शरीर में कुछ ऐसे हार्मोन बनते हैं जो आपके मीठा खाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। साथ ही, कम सोने से शरीर में कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाता है। शरीर के लिए रोज सात घंटे की नींद जरूरी है इसलिए सात घंटे की नींद लें और फिट रहें।
*तोंद कम करने में शहद भी फायदेमंद होता है। शहद के कई गुण हैं। यह न सिर्फ मोटापा बढ़ाने, बल्कि मोटापा कम करने में भी कारगर है। आपको चाहिए कि आप रोजाना सुबह पानी के साथ शहद का सेवन करें। इससे आप शीघ्र ही कमर और पेट को कम करने में सफल होंगे। आप चाहें तो सप्ताह में एक दिन तरल पदार्थ पर भी रह सकते हैं। इसमें आप नींबू पानी, दूध, ज्यूस, सूप इत्यादि चीजों को प्राथमिकता दें। आप चाहें तो एक दिन सलाद या फलाहार को भी दे सकते हैं। इसमें आप मात्र फल या सलाद ही खाएंगे। सलाद खाकर वजन घटाने में आपको मदद मिलगी।
*पुदीना में मोटापा विरोधी तत्व पाये जाते हैं। पुदीना रस एक चम्मच २ चम्मच शहद में मिलाकर लेते रहने से उपकार होता है।
*मोटापा भगाने का और एक मंत्र आ गया है। हाल ही एक शोध में पता चला है कि सुबह जल्दी उठकर नाश्ते से पहले नियमित व्यायाम करने से मोटापा जल्दी दूर भागता है। शोध के मुताबिक जो लोग नाश्ते के बाद कसरत करते हैं उनके मुकाबले वे अपना मोटापा 20 फीसदी तक ज्यादा घटा सकते हैं बनस्पित उनके जो नाश्ते के बाद कसरत करते हैं। शोधकर्ताओं ने इस अध्ययन के जरिए यह पता लगाने की कोशिश की थी कि क्या रातभर भूखे रहने के बाद सुबह उठकर व्यायाम करने से भूख बढ जाती है और लोग ज्यादा खाना खाते हैं। अध्ययन के तहत 12 सक्रिय लोगों को सुबह 10 बजे के लगभग ट्रेडमिल पर कुछ देर व्यायाम करने को कहा गया। इनमें सुबह के नाश्ते से पहले व बाद में व्यायाम करने वाले दोनों तरह के लोग शामिल थे। बाद में सभी प्रतिभागियों को चॉकलेट मिल्क शेक दिया गया और लंच में पास्ता दिया गया। प्रतिभागियों से कहा गया कि वह पेट भर कर खाना खा सकते हैं। शोधकर्ता एम्मा स्टीवंसन और जेवियर गोन्जालेज के समूह ने पाया कि बिना नाश्ता किए व्यायाम करने वाले प्रतिभागियों को दिन में ज्यादा भोजन की आवश्यकता महसूस नहीं हुई। भूखे पेट व्यायाम करने वाले प्रतिभागी अपेक्षाकृत 20 प्रतिशत अधिक वसा कम करने में कामयाब रहे।
*यह बहुत जरूरी है लेकिन कुछ लोगों के लिए यह बहुत कठिन टॉस्क है तो वे मानस‌िक उपाय करें। जब उनके सामने फैटी डाइट हो तो वे उससे होने वाले नुकसान के बारे में सोचें और अपनी तोंद को देंखे। ओवर इटिंग से बचना जरूरी है। कोई भी बहाना न बनाएं। खुद के साथ न्याय करें।
पेट की चर्बी को कम करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है डाइट पर कंट्रोल। मान सकते हैं कि इसपर नियंत्रण के लिए 80 प्रतिशत भूमिका डाइट की ही होती है। शक्कर से बिल्कुल दूरी बरत लें और ग्लूकोज व कार्बोहाइड्रेट की जगह प्रोटीन की अधिकता वाली डाइट लें।
*सुबह-सुबह रोजाना लहसुन की दो तीन कलियां चबाना और ऊपर से नींबू पानी पीना आपके लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे वजन कम करने की आपकी प्रक्रिया दोगुनी हो जाएगी। इसके साथ ही आपके शरीर में रक्‍त प्रवाह भी सुचारू हो जाएगा
*पेट, कमर और जांघों पर जमा चर्बी को कम करने के लिए आप क्या कुछ नहीं करते हैं, फिर भी बढ़ती चर्बी पर नियंत्रण रखने में कामयाब नहीं हो पाते हैं। इन हिस्सों पर जमा फैट्स यानी बेली फैट्स न सिर्फ दिखने में बुरा लगता है बल्कि भविष्य में आनी वाली कई गंभीर बीमारियों का संकेत भी है। तो चलिए आज हम आपको इसे कम करने के ऐसे प्रभावी उपायों की जानकारी दे रहे हैं जिनसे आप आसानी से अपने शरीर को चर्बी को कम कर सकते हैं। वजन बढऩे की एक बहुत बड़ी वजह होती है कोर्टिसोल नामक हार्मोन का तेजी से बढऩा। इसके पीछे तनाव, खानपान व जीवनशैली संबंधित की कारण हो सकते हैं।



*अगर आप बहुत अधिक स्ट्रेस में रहते हैं तो शरीर में कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाता है। विटामिस सी युक्त डाइट के सेवन से शरीर में कोर्टिसोल नियंत्रित हो सकता है। इसमें कार्निटाइन नामक तत्व भी पाया जाता है जो शरीर के फैट्स को बर्न करने में सहायक है। संतरे, शिमलामिर्च, टमाटर, नींबू व अन्य साइट्रस फलों में *विटामिन सी भरपूर मात्रा में मिलता है।
जानकर ताज्जुब होगा लेकिन बेली फैट्स कम करने के लिए ओमेगा 3 फैट्स वाली डाइट बहुत फायदेमंद है। मछली, अखरोट आदि में ओमेगा 3 फैट्स अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं जो चर्बी को कम करने में मदद करते हैं।
*रोज बादाम का सेवन आपका वजन घटा सकता है। पुरड्यू यूनिव‌र्सिटी के शोध की मानें तो बादाम में मौजूद विटामिन ई और मोनोसैचुरेटेड फैट्स न सिर्फ शरीर में मौजूद सैचुरेटेड फैट्स को कम करने में मदद करता है बल्कि ओवर डाइटिंग से भी बचाता है। रोज हल्के भुने बादाम का सेवन बेहतरीन नाश्ता है जिसे लेने के बाद दिनभर स्नैक्स खाने का मन नहीं करता है, वहीं यह शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है।
*रस्सी कूदना वजन घटाने के लिए बेहतरीन एक्सरसाइज है। वजन घटाने के लिए रस्सी कूदने के साथ स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें।
*सुबह-शाम की सैर सबसे ज्यादा लाभकारी है। आपको कमर और पेट के आसपास की चर्बी को दूर करने के लिए चाहिए कि रोजाना सुबह उठकर कुछ देर सैर पर जाएं और रात के खाने के बाद भी सैर करना न भूलें। प्रतिदिन कम से कम 2 किलोमीटर चलें। इससे आप अतिरिक्त कैलोरी को आसानी से कम कर पाएंगे और पेट-कमर की अतिरिक्त चर्बी को भी कम किया जा सकता है। उपरोक्त उपायों को अपनाकर तोंद को कम किया जा सकता है।

       इस पोस्ट में दी गयी जानकारी आपको अच्छी और लाभकारी लगी हो तो कृपया लाईक,कमेन्ट, शेयर जरूर कीजियेगा । आपके एक शेयर से किसी जरूरतमंद तक सही जानकारी पहुँच सकती है साथ ही हमको भी आपके लिये और अच्छे लेख लिखने की प्रेरणा मिलती है|



Post a Comment