स्तनों को जल्दी बड़ा बनाने के उपाय





    सही आकृति और फिट आकार वाले शरीर को ही आकर्षक और सुंदर काया माना जाता है और आज की हर महिला फेस ब्यूटी के साथ-साथ एक अच्छी फिट बॉडी चाहती है इसीलिए आधुनिक समाज में अच्छे और सुंदर फेस के साथ-साथ सुडौल और बड़े स्तनो को आकर्षक शारीरिक विशेषताओं में से एक माना जाता है।
अच्छे स्तन पाने की इच्छा महिलाओं को पुरातन काल से रही है। महिलाओं के स्तन उनकी सुंदरता में चार चाँद लगाते हैं और पुरूषों के लिए तो ये हमेशा से ही आकर्षण का केंद्र रहे हैं। आज के ज़माने में भी पुरुष बड़े और आकर्षक स्तन वाली महिलाओं को ही ज़्यादा पसंद करते हैं। आजकल महिलाएं अपनी सुंदरता के विभिन्न आयामों को लेकर काफी सजग हो गयी हैं,अतः स्तनों को बड़ा और आकर्षक बनाने के तरीकों पर भी शोध चलते रहते हैं।

मर्दानगी(सेक्स पावर) बढ़ाने के नुस्खे 

आज एक औरत को और अधिक आकर्षक लगने के लिए उसके पास शारीरिक ऊंचाई और वजन से मेल खाते स्तनों की आदर्श जोड़ी का होना आवश्यक माना जा रहा है। अगर छोटे और बड़े स्तन वाली महिला में अंतर की बात करें तो छोटे स्तनों की अपेक्षा सुडौल और बड़े स्तन वाली महिला देखने में तो अधिक सुंदर लगती ही है साथ में बड़े स्तन वाली महिलाओं के अंदर आत्मविश्वास भी अधिक होता है इसी कारण आत्मविश्वास से भरी महिला जहाँ जाती है उनका नैतिक सम्मान भी बढ़ जाता है।
आकर्षक शारीरिक विशेषताओं में सुडौल और बड़े स्तनो के महत्व को समझ कर ही आज महिलाएं स्वाभाविक रूप से स्तन के आकार बढ़ाने के उपाय जानने के लिए उत्सुक रहती है पर ज्यादातर महिलायें स्तन का आकार बढ़ाने लिए महंगी प्रक्रिया सर्जरी को ही चुनती है लेकिन स्तन वृद्धि की प्रक्रिया हमेशा परिणाम प्रदान करने वाली सर्जरी कई बार दुष्प्रभाव भी छोड़ जाती है इसलिए ब्रेस्ट का साइज बढाने के लिए हम कुछ सफल और आसान उपाय लेकर आये है जो ब्रेस्ट का साइज बढाने में आपकी मदद जरुर करेंगे।

औरतों मे सफ़ेद पानी जाने की प्रभावी औषधि 

चेस्ट प्रेसेस (Chest presses) करने के लिए डंबल्स (dumbbells) या वज़न दोनों तरफ लें और इन्हें उठाएं। चटाई पर सीधे खड़े हो जाएं और घुटनों को मोड़कर वज़न को हाथों में ले लें। इसे तब तक सीधा उठाते रहें, जब तक ये आपके कंधे के स्तर तक ना पहुँच जाए। इसके बाद उसी मुद्रा में वापस आ जाएं। इसे 10 से 15 बार दोहराएं और इससे आपको आसानी से फर्क दिखेगा।
कसरत और योग : सुडौल और बड़े आकार के स्तन पाने में कसरत और योग हमेशा ही सबसे उपयोगी साबित हुए है। स्तन मांसपेशियों के बढ़ाने के लिए आप पुश-अप,डम्बल से ब्रेस्ट प्रेस,वाल प्रेस,स्विंगिंग आर्म्स के साथ-साथ घर पर गोमुखासन,उष्ट्रासन,वृक्षासन,द्विकोणासन आदि योग का अभ्यास सुडौल और अधिक आकर वाले स्तन प्राप्त करने के लिए कर सकती है। ये सभी कसरत और योग आपको शारीरिक ताजगी देने के साथ-साथ शरीर से तनाव भी दूर कर देंगे।

बिदारीकन्द के औषधीय उपयोग 

पोषक पेय पदार्थ : अगर आप रोज़ाना दूध और पपीते का रस पी सकती हैं तो आपके स्तनों के जल्दी बड़े होने की संभावना काफी ज़्यादा हो जाएगी। इनमें मौजूद विटामिन एवं अन्य पोषक पदार्थ आपके स्तनों की बढ़त तथा उन्हें आकर्षक और सुडौल बनाने में काफी बड़ी भूमिका निभाते हैं। अगर आप रस पीना नहीं चाहती तो ताज़ा पपीता खाने से भी आपको काफी लाभ मिलेगा।
छाती को सिकोड़ना भी एक व्यायाम है। पैरों में कूल्हों जितनी दूरी बनाकर सीधे खड़े हों। एक नहाने के तौलिये को दोनों कोनों से पकड़ें और हाथों को सीधा खींचें। तौलियों को दोनों हाथों से विपरीत दिशा में लेकर जाएं। इस मुद्रा में 30 सेकंड से एक मिनट तक रहें। यह व्यायाम 3 बार करें।
प्रोटीन : हम सभी जानते हैं कि मांसपेशियों के विकास के लिए प्रोटीन काफी आवश्यक हैं। अतः जिम में जाकर अपनी मांसपेशियां विकसित करने वालों को मांस और अंडे के सेवन की हिदायत दी जाती है जिनमें प्रोटीन भरा हो। इसी तरह महिलाओं के लिए उनके स्तन भी एक प्रकार की मांसपेशियां ही हैं,अतः उन्हें सुडौल वाक्स की प्राप्ति के लिए काफी मात्रा में प्रोटीन का सेवन करना चाहिए।
वजन बढ़ाना-वज़न बढ़ने पर धीरे धीरे स्तनों के आकार में भी काफी वृद्धि होती है। अगर आपको लगता है कि आपके स्तन काफी धीरे बढ़ रहे हैं, तो आप अपने डॉक्टर से भी सलाह कर सकती हैं। वज़न बढाने के लिए मूंगफली, पनीर, मक्खन, दही आदि का सेवन करें। जिम (gym) जाकर वहाँ कुछ समय बिताएं। वहां 13 से 15 पुश अप्स , वज़न उठाना और छाती के अन्य व्यायाम करें, जिससे कि आपकी छाती की मांसपेशियों में खिंचाव आए।
स्तनों की क्रीम : बाज़ार में आज तरह तरह की क्रीम उपलब्ध हैं जो आपके स्तनों के विकास एवं उन्हें बड़ा बनाने का भरोसा दिलाती हैं। आपको ऐसी क्रीम चुन्नी चाहिए जो आपकी त्वचा के अनुसार सही हो। ये क्रीम्स भी आपके स्तनों को सुडौल एवं आकर्षक बनाने हेतु काफी उपयोगी हैं। आपके लिए केवल यह आवश्यक है कि किसी अच्छी नामी ब्रांड की क्रीम लें जिसकी ग्राहक समीक्षा अच्छी हो।
चेस्ट फ्लाइस
(Chest flys) घर पर बिना किसी अतिरिक्त मेहनत के किये जा सकते हैं। एक कुर्सी लेकर बीच में बैठ जाएं और दोनों हाथों में बराबर भार उठाएं। हाथों को वज़न सहित सीधे उठाएं और कंधे तक पहुंचकर धीरे धीरे नीचे आ जाएं। इस बात का ध्यान रखें कि आपके हाथ निचले शरीर की तरफ एक दूसरे से पास रहें। इस व्यायाम को 3 सेट्स (sets) में दिन में 12 बार करें। आप रात को ब्रा पहनने से भी परहेज़ भी कर सकती हैं।
आहार : स्तन का आकार शरीरक हार्मोन की अनुपस्थिति पर भी निर्भर करता है। आपके शरीर में अगर पुरुष हार्मोन या टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की उपस्थिति होगी तो यह स्तन विकास में बाधा डाल सकता है। इस हार्मोन के अतिरिक्त बात करे तो एस्ट्रोजन की कमी भी छोटे स्तन के पीछे की एक वजह हो सकती है। इन हार्मोनस पर काबू पाने के लिए सबसे अच्छा तरीका नपा तुला खाद्य पदार्थ ही सकता है। आप अपने संतुलित भोजन में चिकन सूप,मछली,सौंफ बीज, सोयाबिन और सोया से बने अन्य खाद्य पदार्थ सब्जियां,फलियां,फल,अंडे,नट्स के साथ-साथ सूरजमुखी के बीज, तिल के बीज और सन बीज भी शामिल कर सकती है।


हाथ पैर और शरीर का कांपना कारण और उपचार

मेथी : यह आपके वक्षों को बढ़ाने के प्राकृतिक उपचारों में से एक है। मेथी का रस निकालें और इसे अपने स्तनों पर अच्छे से लगाएं। अगर आप इस विधि का रोज़ाना इस्तेमाल करें तो आपको जल्दी ही सुन्दर और बड़े वक्षों की प्राप्ति होगी।
स्तन की बढ़त में धैर्य रखना
: आपको इस बात का इल्म होना चाहिए कि आपके स्तन एक ही दिन में बड़े,सुडौल एवं आकर्षक नहीं हो सकते जब तक आप स्तनों पर शल्य क्रिया का प्रयोग ना करें। जब कोई महिला अपने यौवन के प्रारम्भ की स्थिति में पहुँचती है तो उसकी छाती में दो तरफ स्तन के नाम पर सिर्फ २ छोटे मांस के टुकड़े होते हैं। स्तन बढ़ने में काफी समय लगता है,अतः महिलाओं के लिए यह काफी आवश्यक है कि स्तन बढ़ाने के नुस्खे अपनाते वक़्त धैर्य का परिचय दें।
पुश अप्स
करने के लिए सामने के भाग को फर्श पर रखें और हाथों को समतल तरीके से नीचे रखें। पैरों को भी सीधा रखें और हथेलियों की मदद से खुद को धीरे धीरे उठाने और नीचे लाने की प्रक्रिया आरम्भ करें। इसे कम से कम 13 से 15 बार करें और आप खुद के हाथ और छाती में शक्ति का अनुभव करेंगी। कुएं से पानी निकालने से भी आपकी छाती की मांसपेशियों पर खिंचाव पड़ता है, जिससे वे तेज़ी से बढती हैं।

स्तनों का दूध बढ़ाने के उपाय 

स्तनों की मसाज : सुडौल स्तन पाने का यह एक और कारगर तरीका है। अगर आप तेल से अपने स्तनों की मालिश करें तो भरपूर एवं बड़े स्तन पाने की आपकी इच्छा अवश्य पूरी होगी। सोने के पहले रोज़ाना अपने स्तनों पर तेल लगाकर उनकी मालिश करें। इससे आपके स्तन के तंतु सुडौल होंगे और आपके स्तनों को अच्छी बढ़त मिलेगी।
व्यायाम
: कुछ छाती एवं हाथ से जुड़े व्यायाम आपके स्तनों की बढ़त और उन्हें बड़ा बनाने में काफी उपयोगी सिद्ध होते हैं। अगर आप कुछ हाथ के व्यायाम कर सकें जिनके द्वारा आपके स्तनों पर दबाव पड़ सके तो इससे आपके स्तनों को सुडौल एवं बड़ा होने में काफी मदद मिलेगी।
जड़ी बूटियां : प्राकृतिक रूप से मिलने वाली कुछ जड़ीबूटियां आपके वक्षों को आकर्षक एवं बड़ा बनाने में काफी हद तक सक्षम हैं। ये प्राथमिक रूप से स्तनों को बढ़ाने वाली जड़ी बूटियां ही हैं जो आपके स्तनों को बड़ा करके उन्हें एक सुन्दर आकार देती हैं। आप अपने वक्षों को बढ़ाने के लिए कुछ हॉर्मोन्स की भी मदद ले सकती हैं परन्तु इनके काफी साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। पर अगर आप जड़ीबूटियों का सहारा लेंगी तो साइड इफेक्ट्स की कोई भी संभावना नहीं है।


गोखरू के औषधीय गुण और प्रयोग


कपड़ों का सही चुनाव करें
: अपने छोटे स्तनों को उजागर करने के लिए हमेशा छोटे या गलत फिटिंग वाले ब्रा पहनना आपकी ब्रेस्ट स्वाथ्य के लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए स्तनों को बड़े और फुले हुए देखने के लिए आप गद्देदार ब्रा की मदद ले सकती है पर घर पर रहते हुए या अधिक समय तक ऐसी ब्रा को पहनना आपके ब्रेस्ट और स्वास्थ्य दोनों के लिए गलत हो सकता है।

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार

किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार




कोई टिप्पणी नहीं: