Wednesday, July 1, 2015

मेथी के स्वास्थ्यकारी लाभ :Health benefits of Fenugreek seeds





     मेथी  सेहत के लिहाज से बहुत गुणकारी है। मेथी में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, नैसिन, पौटेशियम, आयरन और अल्कालाड्यस होता है। इसमें डाइसोजेनिन भी होता है जो ऑस्ट्रियोजेन जैसे गुणों से भरपूर होता है। मेथी में कई स्वास्थ्यवर्धक गुण होते है जो कई शारीरिक समस्याओं को दूर भगा देते है। मेथी के दाने बालों की जड़ों को मजबूत करते हैं और उसे पुनर्जीवित भी करते हैं। इसमें प्रोटीन होता है, इसलिए मेथी दानों को अपनी डाइट में शामिल करने से आपके बाल खूबसूरत बनेंगे।
मेथी के दानों में फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है। खाली पेट मेथी दानों को चबाने से एक्सट्रा कैलरी बर्न होती है। सुबह दो गिलास मेथी का पानी पीने से मोटापा दूर होता है। मेथी का पानी बनाने क लिए एक बड़ा चम्मच मेथी के दानों को दो गिलास पानी में रातभर भिगो दें और सुबह इसे छानकर पी लें। मेथी के सेवन से किडनी भी स्वस्थ होती है। पथरी के इलाज में भी मेथी फायदा करती है। इस जादुई औषधि से पथरी पेशाब के साथ शरीर से बाहर निकल जाती है।

मेथी के दानों के सेवन से पेट दर्द और जलन दूर होती है। साथ ही पाचन क्रिया भी दुरुस्त होती है। मेथी दाने में फॉस्फेट, लेसिथिन और न्यूक्लिओ अलब्यूमिन होने से यह पोषक होती है। इसमें फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर आदि भी मिलते हैं जो शरीर के लिए बेहद जरूरी हैं। पेट ठीक रहे तो स्वास्थ्य भी ठीक रहता है और खूबसूरती भी बनी रहती है। मेथी पेट के लिए काफी अच्छी होती है।

दूध बढ़ाता है -

मेथी के दाने  का सेवन करने से माँ  के शरीर  मे दूध ज्यादा बनाता है |  यह मेथी मे पर्याप्त मात्रा मे डायसोजेनिन  तत्व  होने के कारण  होता है| यह दूध निर्माण को प्रोत्साहित करता है| 

प्रसव आसानी से होता है-

मेथी के प्रयोग से गर्भाशय  ऐसा हो जाता है कि प्रसव के समय महिला को कम पीड़ा होती है|  लेकिन गर्भावस्था   के दौरान इसका उपयोग  वर्जित माना गया है| गर्भ पात हो सकता है| 






  मेथी के सेवन से महिलाओं के शरीर को सभी आवश्‍यक तत्‍व मिल जाते है जो मासिक धर्म की समस्‍या को दूर कर देते है। मासिक धर्म के दौरान होने वाला दर्द आदि भी इसके सेवन से दूर हो जाता है। 

स्तनो को सूडोल  बनाए -

अगर किसी स्त्री के स्टैन सूडोल  नहीं हैं तो उसे मेथी को अपने दैनिक खुराक मे जगह देनी चाहिए|  मेथी के प्रयोग से स्त्रियॉं के स्तन संबंधी हारमोन  बेलेन्स मे रहते हैं| 


  कोलेस्‍ट्रॉल घटाएं :

 अध्‍ययन के अनुसार, कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने पर मेथी का सेवन करना चाहिये, इससे बढ़ता कोलेस्‍ट्रॉल घटता है या स्थिर हो जाता है। 

  डायबटीज को नियंत्रण में लाएं

 मेथी का सेवन करने से डायबटीज यानि मधुमेह की समस्‍या नहीं होती है। इसमें गेलाक्‍टोमेनोन नामक फाइबर होता है जो मेथी में भरपूर मात्रा में पाया जाता है, यह शरीर में सुगर की कम मात्रा को अवशोषित करता है, जिससे शरीर में एसिड कम बनता है और इंसुलिन की मात्रा बढ़ती है।


पेट के कैंसर - 

 मेथी के दानों में फाइबर सामग्री जैसे- सापोनिन्‍स, म्‍यूसिलेज आदि होता है जो शरीर में स्थित विषाक्‍त पदार्थो को बाहर निकाल देता है और पेट में कैंसर जैसी गंभीर समस्‍या होने पर आराम दिलाता है।





पाचन दुरूस्‍त करे : 

 मेथी के बीज का सेवन करने से शरीर के हार्मफुल टॉक्सिन बाहर निकल जाते है। इसके सेवन से पाचन क्रिया भी दुरूस्‍त रहती है।

त्‍वचा सम्‍बंधी रोगों को दूर करें

 त्‍वचा सम्‍बंधी किसी भी प्रकार का रोग होने पर जैसे - जल जाना, खुजली होना आदि को मेथी के बीज क पेस्‍ट लगाकर ठीक किया जा सकता है। इससे त्‍वचा सम्‍बंधी कई अंदरूनी विकार भी दूर हो जाते है।


बुखार और गले के छाले-
बुखार आने और गला पकने  मे भी मेथी का प्रयोग हितकारी होता है|  मेथी बीज के साथ शहद और नींबू  का भी उपयोग करें|  गले की खराश  और खिच खिच  मे भी उपयोगी है|











Post a Comment

Featured Post

किडनी फेल,गुर्दे खराब रोग की जानकारी और उपचार :: Kidney failure, information and treatment

किडनी कैसे काम करती है? किडनी एक बेहद स्पेशियलाइज्ड अंग है. इसकी रचना में लगभग तीस तरह की विभिन्न कोशिकाएं लगती हैं. यह बेहद ही पतली...