Thursday, February 23, 2017

सूरजमुखी के बीज हैं स्‍वास्‍थ्‍य का खजाना



    सूरजमुखी के बीचों के तेल में कई लाभदायक तत्व मोजूद होते हैं। इन छोटे से बीजों के तेल के सेवन से पेट के कैंसर, उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर, उच्च रक्तचाप, दिल के दौरे और स्ट्रोक आदि गंभीर रोगों से बचाव होता है।
सूरजमुखी के बीज भले ही दिखने में आकर्षक न लगें, लेकिन गुणों के मामले में ये कमाल होते हैं। इन बीजों में विटामिन ई और पोली अन-सैचुरेटेड फैट व मैग्नीशियम कफी होता है। इसके तेल के नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है। महिलाओं तथा उम्रदराज लोगों के लिए भी यह काफी लाभदायक होते हैं। तो चलिये जाने सूरजमुखी के बीजों के ऐसे ही कुछ कमाल स्वास्थ्य लाभ।
दिल को रखे स्‍वस्‍थ इनके बीजों में विटामिन सी होता है जो कि दिल की बीमारी को दूर रखने में मदद करता है। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन ई कोलेस्‍ट्रॉल को खून की धमनियों में जमने से रोक कर हार्ट अटैक और स्‍ट्रोक का खतरा टालता है। एक चौथाई कप सूरजमुखी बीज 90 प्रतिशत तक का डेली विटामिन ई प्रदान करता हैहार्ट अटैक का मुख्य कारण रक्त की धमनियों में रुकावट, कम-ज्यादा रक्तचाप व मानसिक तनाव व अधिक थकान होते हैं। हृदय रोग विशेषज्ञों का कहना है कि धमनियों में खून का थक्का जमने से हार्ट अटैक का खतरा अधिक होता है।
*रक्त धमनियों में खून के थक्के का नियंत्रण एक एसिड करता है, जिसे ‘लिनोलेइक एसिड’ कहते हैं। यह एक असंतृप्त अम्ल होता है। इसकी पूर्ति वनस्पति तेल से की जाती है। शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि सूरजमुखी (सन फ्लावर) के बीजों में यह एसिड काफी मात्र में पाया जाता है।
*इस कारण इसका तेल हृदय रोगियों के लिए लाभदायक है। यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्र को भी नियंत्रण में रखता है। यह अच्छे कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) की मात्र को बढ़ाता है और खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करता है। शरीर में जमा अतिरिक्त वसा को भी यह कम करता है। साथ ही यह रक्तचाप बढ़ाने वाले रसायन ‘डोपामाइन डी-1’ को भी घटाता है।अस्थमा और पेट के कैंसर से बचाता है : सूरजमुखी के तेल में किसी अन्य खाना पकाने के तेल की तुलना में अधिक Vitamin E होता है। इसलिए आप अपने आहार में इस तेल को शामिल कर के अस्थमा और पेट के कैंसर जैसे बीमारियों से बचे रहा सकते है।
बॉडी को रिपेयर करता है :
 सूरजमुखी का तेल में भी प्रोटीन होता है, जो की हमारे शरीर के निर्माण और मरम्मत तथा हार्मोन और एंजाइमों के उत्पादन करने के लिए मदद करती हैं। हमारे शरीर को उच्च मात्रा के proteins की आवश्यकता होती है। चूंकि शरीर proteins की मात्रा को स्टोर कर के नहीं रख सकता है उसे consume किया जाता है और इस आवश्यकता को पूरा sunflower seed oil करता है।
हड्डी बनाए मजबूत :
 इसमें मैग्नीशियम की भी अधिक मात्रा होती है, जिससे हड्डियों में मजबूती आती है। इसके साथ ही यह हड्डियों के जोड़ों में लचीलापन तथा मजबूती लाता है। गठिया और सूजन के लिये इसमें मौजूद विटामिन ई काफी लाभदायक है।



एक्ने और त्वचा संबन्धित रोग दूर करे :
 सूरजमुखी बीज के तेल में फैटी एसिड होते हैं जो कि त्वचा को बैक्टीरिया से बचा कर एक्ने होने से रोकते हैं। यह भी माना जाता है कि सूरजमुखी तेल एक्जिमा और डर्मेटाइटिस की बीमारी से बचाता है।
दिमाग के लिये अच्छा : यह आपके दिमाग को शांत रखता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम दिमाग की नसों को शांत करता है तथा स्ट्रेस और माइग्रेन से छुटकारा दिलाता है।
हेयर ग्रोथ : 
जिंक से भरे ये बीज आपके बालों को बढाएंगे। हांलाकि अत्यधिक जिंक के सेवन से बाल झड़ने की समस्या काफी ज्यादा बढ़ सकती है। इसमें मौजूद विटामिन ई, सिर में ब्लड सर्कुलेशन कर के बालों की ग्रोथ बढ़ाता है।
गठिया से बचाता है : जो लोग गठिया के बीमारियों से डरते है उनके लिए सूरजमुखी का तेल सबसे बेहतर solution है। सूरजमुखी तेल rheumatoid arthritis को रोकथाम में मदद करता है। इसलिए जिनको भी गठिया की समस्या हो उन्हें सूरजमुखी के तेल उपयोग में लेना चाहिए
*सूरजमुखी के बीजों को खाने से हार्ट अटैक का खतरा कम होता है, कोलेस्ट्रॉल घटता है, त्वचा में निखार आता है तथा बालों की भी ग्रोथ होती है। आइये जानते हैं सूरजमुखी के बीज खाने से क्या-क्या स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं।

दिल को रखे स्वस्थ : इनके बीजों में विटामिन सी होता है जो कि दिल की बीमारी को दूर रखने में मदद करता है। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन ई कोलेस्ट्रॉल को खून की धमनियों में जमने से रोक कर हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा टालता है। एक चौथाई कप सूरजमुखी बीज 90 प्रतिशत तक का डेली विटामिन ई प्रदान करता है।
कोलेस्ट्रॉल घटाए :
 इनमें मोनो और पोलीसैच्युरेटेड फैट्स होते हैं, जो कि एक अच्छे फैट माने जाते हैं। यह खराब कोलेस्ट्रॉल को घटाने का काम करते हैं। इसके अलावा इनमें ढेर सारा फाइबर भी होता है जो कोलेस्ट्रॉल को घटाता है।
पेट ठीक रखे : 

बीज में काफी सारा फाइबर होता है जिससे कब्ज की समस्या ठीक हो जाती है।
कैं
सर से बचाव :
 इसमें विटामिन ई, सेलियम और कॉपर होता है, जिसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। रिसर्च दृारा कहा गया है कि यह पेट, प्रोस्ट्रेट और ब्रेस्ट कैंसर से रक्षा करता है।



त्वचा निखारे : सूरजमुखी के बीज का तेल त्वचा की नमी बनाए रखने के रूप में के रूप में अच्छी तरह से यह बैक्टीरिया के खिलाफ की रक्षा में मदद करता है।
जिंक
सूरजमुखी तेल में जिंक प्रचुर मात्रा में है जो कि घावों के जल्द उपचार में मदद करता है। यह स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाए रखने में भी मददगार होता है।
फोलिक एसिड
सूरजमुखी के तेल में मौजूद फोलिक एसिड वर्तमान नई सैल्स के निर्माण में मदद करता है और मांसपेशियों में ऐंठन को रोकने में में असरदार होता है। जबकि इसमें मौजूद ट्रीप्टोफन मस्तिष्क को आराम पहुंचाता है और गहरी नींद लेने में सहायता करता है।
फैटी एसिड और विटामिन
सूरजमुखी के तेल में व्याप्त ओमेगा फैटी एसिड और विटामिन बालों की चमक और बनावट को बेहतर बनाए रखते हैं। बालों पर नियमित रूप से सूरजमुखी के बीज का तेल लगाने से डेंड्रफ आदि की समस्या भी नहीं होती है।
विटामिन ई
सूरजमुखी के बीजों में मौजूद विटामिन 'ई', संधिशोथ, अस्थमा, पेट के कैंसर, उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर, उच्च रक्तचाप, दिल के दौरे और स्ट्रोक आदि गंभीर रोगों से बचाव करता है।
विटामिन बी6
सूरजमुखी के बीजों में प्रचुर मात्रा में मौजूद विटामिन बी6 और जिंक शरीर का मेटाबॉलिज्म दुरुस्त रखते हैं और सीबम के निर्माण को भी नियंत्रित करते हैं। इसके सेवन से सिर की त्वचा पर डैंड्रफ भी नहीं होती है।
एंटीऑक्सीडेंट गुण
सूरजमुखी का तेल एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है। इसमें विटामिन 'ई' प्रचुर मात्रा में होता है जो इसे यह गुण प्रदान करता है। एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में सूरजमुखी का तेल कैंसर से बचाता है।
त्वचा की नमी
सूरजमुखी के बीज का तेल त्वचा की नमी बनाए रखने में मदद करता है और शरी और त्वचा के बैक्टीरिया के खिलाफ रक्षा करने में भी मदद करता है।



दिल का रखे खयाल-

सूरजमुखी के तेल हृदय रोगियों के लिए फायदेमंद होता है। यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्र को नियंत्रण रखता है। साथ ही साथ अच्छे कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) की मात्र को बढ़ाता है और खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करता है। यह शरीर में जमा अतिरिक्त वसा को कम करता है और रक्तचाप बढ़ाने वाले रसायन ‘डोपामाइन डी-1’ को घटाता है।
सूरजमुखी के बीजों को खाने से हार्ट अटैक का खतरा कम होता है, कोलेस्‍ट्रॉल घटता है, त्‍वचा में निखार आता है तथा बालों की भी ग्रोथ होती है। आइये जानते हैं सूरजमुखी के बीज खाने से क्‍या-क्‍या स्‍वास्‍थ्‍य लाभ मिलते हैं।दिल को रखे स्‍वस्‍थ इनके बीजों में विटामिन सी होता है जो कि दिल की बीमारी को दूर रखने में मदद करता है। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन ई कोलेस्‍ट्रॉल को खून की धमनियों में जमने से रोक कर हार्ट अटैक और स्‍ट्रोक का खतरा टालता है। एक चौथाई कप सूरजमुखी बीज 90 प्रतिशत तक का डेली विटामिन ई प्रदान करता है।
*कोलेस्‍ट्रॉल घटाए इनमें मोनो और पोलीसैच्‍युरेटेड फैट्स होते हैं, जो कि एक अच्‍छे फैट माने जाते हैं। यह खराब कोलेस्‍ट्रॉल को घटाने का काम करते हैं। इसके अलावा इनमें ढेर सारा फाइबर भी होता है जो कोलेस्‍ट्रॉल को घटाता है।
Post a Comment